यूपी मुख्यमंत्री निराश्रित बेसहारा गोवंश सहभागिता योजना 2023: 15,000 रूपये महिना दे रही सरकार (Mukhyamantri Besahara Govansh Sahbhagita Yojana UP in Hindi)

Mukhyamantri Besahara Govansh Sahbhagita Yojana UP

यूपी मुख्यमंत्री निराश्रित बेसहारा गोवंश सहभागिता योजना 2023, ऑनलाइन आवेदन करें, फॉर्म pdf, पात्रता, दस्तावेज, अधिकारिक वेबसाइट, हेल्पलाइन नंबर, ताज़ा खबर, स्टेटस, अंतिम तिथि, लिस्ट (Mukhyamantri Besahara Govansh Sahbhagita Yojana UP in Hindi) (Online Apply, Form pdf, Eligibility, Documents, Official Website, Helpline Number, Latest News, Status, Last Date, List)

लगभग 4 साल पहले उत्तर प्रदेश सरकार के द्वारा पशुओं के कल्याण के लिए एक महत्वपूर्ण योजना की शुरुआत कर दी गई थी। इस योजना का नाम सरकार ने मुख्यमंत्री सहभागिता योजना रखा हुआ है। योजना के माध्यम से सरकार के द्वारा पहले जो राशि दी जाती थी, उसमें अब गवर्नमेंट ने बढ़ोतरी कर दी है। यह बढ़ोतरी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के आदेश के पश्चात की गई है। अब इस योजना के माध्यम से हर महीने लाभार्थी लोगों को थोड़ी अधिक रकम प्राप्त होगी। चलिए इस आर्टिकल में योजना के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त करते हैं और जानते हैं कि आखिर उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री बेसहारा गोवंश सहभागिता योजना क्या है और यूपी मुख्यमंत्री बेसहारा गोवंश सहभागिता योजना में आवेदन कैसे करें।

Mukhyamantri Besahara Govansh Sahbhagita Yojana UP

यूपी मुख्यमंत्री निराश्रित बेसहारा गोवंश सहभागिता योजना 2023

योजना का नाम मुख्यमंत्री निराश्रित बेसहारा गोवंश सहभागिता योजना
राज्य उत्तर प्रदेश
योजना की शुरुआत साल 2019
किसने शुरू की मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ
लाभार्थी उत्तर प्रदेश के सभी लोग
उद्देश्य बेसहारा पशुओं की देखभाल करवाना
आधिकारिक वेबसाइट http://www.animalhusb.upsdc.gov.in/en
हेल्पलाइन नंबर 0522-2740482 एवं 18001805999

यूपी गोपालक योजना

Mukhyamantri Besahara Govansh Sahbhagita Yojana UP

श्रीमान योगी आदित्यनाथ जी के द्वारा साल 2019 में 6 अगस्त के दिन उत्तर प्रदेश के सभी जिलों में मुख्यमंत्री सहयोगिता योजना की शुरुआत की गई थी। इस योजना को गौवंश सहभागिता योजना भी कहा जाता है। सरकार ने योजना का शुभारंभ उत्तर प्रदेश के सभी ऐसे लोगों के लिए किया हुआ है, जो निराश्रित अथवा बेसहारा गाय या बैल को पालना चाहते हैं। यदि ऐसा कोई भी व्यक्ति करना चाहता है, तो उसे इस योजना के माध्यम से अब हर महीने 1500 रुपए दिए जाएंगे। पहले योजना के तहत मिलने वाली हर महीने की रकम सिर्फ ₹900 थी। इस प्रकार से 1 साल में प्रति लाभार्थी किसान या व्यक्ति को ₹15000 की सहायता डायरेक्ट अपने बैंक अकाउंट में हासिल हो सकेगी। पहले योजना के अंतर्गत 3 महीने का पैसा एक साथ देने का प्रावधान रखा गया था, परंतु बाद में 3 महीने में अमाउंट पेमेंट करने के प्रावधान को खत्म किया गया और अब हर महीने लाभार्थी को पैसा दिया जाएगा।

यूपी मुख्यमंत्री निराश्रित बेसहारा गोवंश सहभागिता योजना उद्देश्य

उत्तर प्रदेश एक बड़ी आबादी वाला राज्य है, जहां पर अधिकतर लोग खेती किसानी करने का काम और पशु पालन करने का काम करते हैं। कई बार जो लोग पशुपालन करते हैं, वह किसी कारण की वजह से गांव से शहर की तरह पलायन कर जाते हैं। ऐसे में वह अपने पाले हुए जानवरों को खुला छोड़ देते हैं, जिससे जानवर यहां वहां भटकते हैं और दूसरे की फसलों को नुकसान पहुंचाते हैं। ऐसे में सरकार ने मुख्यमंत्री सहभागिता योजना की शुरुआत की, ताकि योजना के अंतर्गत यदि कोई भी व्यक्ति बेसहारा या फिर निराश्रित गाय अथवा बैल को बांधकर उनकी सेवा करता है और उन्हें पालने का काम करता है तो उसे हर महीने एक निश्चित सहायता दी जाएगी।

यूपी नंदिनी कृषक समृद्धि योजना

मुख्यमंत्री निराश्रित बेसहारा गोवंश सहभागिता योजना लाभ एवं विशेषताएं

  • योगी आदित्यनाथ जी के द्वारा साल 2019 में योजना को उत्तर प्रदेश में चालू किया गया था।
  • योजना का फायदा यूपी का कोई भी व्यक्ति प्राप्त करने की पात्रता रखता है।
  • योजना के अंतर्गत बेसहारा और निराश्रित गाय और बैल की सेवा करने पर व्यक्ति को हर महीने एक निश्चित अमाउंट मिलेगा।
  • यह अमाउंट हर महीने 1500 रुपए का होगा। पहले हर महीने सिर्फ ₹900 ही दिए जाते थे।
  • पहले हर 3 महीने में पैसे मिलते थे परंतु अब हर महीने योजना के माध्यम से पैसा दिया जाएगा।
  • पैसा पाने के लिए व्यक्ति के पास किसी भी ग्रामीण या फिर राष्ट्रीय बैंक में बैंक अकाउंट होना चाहिए।
  • योजना के तहत पैसा देने के लिए सरकार डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर मोड का इस्तेमाल करेगी।
  • योजना के अंतर्गत गवर्नमेंट के द्वारा बेसहारा गोवंश के भरण पोषण के दैनिक मिलने वाले पैसे को ₹30 से बढा करके ₹50 कर दिया है और बढ़ा हुआ पैसा अक्टूबर के महीने से मिलना शुरू हो जाएगा।
  • वर्तमान आंकड़े के अनुसार उत्तर प्रदेश के 6901 गौशाला में 11,83000 गोवंश सुरक्षित है। वही इस योजना के अंतर्गत 69377 परिवारों को 135195 गोवंश और पोषण मिशन के अंतर्गत 2023 परिवारों को 2453 गोवंश दिए गए हैं।
  • गवर्नमेंट के द्वारा इस योजना के लिए साल 2019 से लेकर के अभी तक 1875.51 करोड रुपए दिए गए हैं।

मुख्यमंत्री निराश्रित बेसहारा गोवंश सहभागिता योजना पात्रता (Eligibility)

  • उत्तर प्रदेश के मूल निवासी व्यक्ति ही योजना के लिए पात्रता रखते हैं।
  • वही व्यक्ति योजना के लिए पात्रता रखते हैं, जो गोवंश पालने का एक्सपीरियंस रखते हैं।
  • व्यक्ति के पास पशुओं को रखने के लिए पर्याप्त मात्रा में जगह उपलब्ध होनी चाहिए।
  • एक व्यक्ति को सिर्फ चार गोवंश ही दिए जाएंगे जिसमें नए जन्मे बछडे की गणना नहीं होगी।
  • योजना के लाभार्थी और आवेदक व्यक्ति के पास बैंक अकाउंट होना चाहिए और बैंक अकाउंट से आधार कार्ड लिंक होना चाहिए।
  • दूध की कमेटी से जो लोग जुड़े हुए हैं, उन्हें इस योजना में प्राथमिकता दी जाएगी।

मुख्यमंत्री ग्रामीण आवास योजना यूपी

मुख्यमंत्री निराश्रित बेसहारा गोवंश सहभागिता योजना दस्तावेज (Documents)

  • आधार कार्ड की फोटो कॉपी
  • पैन कार्ड की फोटो कॉपी
  • फोन नंबर
  • ईमेल आईडी
  • पासपोर्ट साइज की रंगीन फोटो
  • अन्य दस्तावेज

मुख्यमंत्री निराश्रित बेसहारा गोवंश सहभागिता योजना आधिकारिक वेबसाइट (Official Website)

इस योजना के तहत आधिकारिक वेबसाइट लॉन्च की गई है। इस आधिकारिक वेबसाइट में जाकर आप आवेदन कर सकते हैं, साथ ही योजना की जानकारी भी आपको यहां मिल जाएगी।

यूपी मुख्यमंत्री शिक्षुता प्रोत्साहन योजना

मुख्यमंत्री निराश्रित बेसहारा गोवंश सहभागिता योजना फॉर्म pdf

आप इस योजना के पीडीएफ फॉर्म को योजना की अधिकारिक वेबसाइट से डाउनलोड कर सकते हैं। यदि आधिकारिक वेबसाइट पर पीडीएफ फॉर्म अवेलेबल होगा, तो वहां से उत्तर प्रदेश सहभागिता योजना पीडीएफ फॉर्म डाउनलोड किया जा सकता है।

मुख्यमंत्री निराश्रित बेसहारा गोवंश सहभागिता योजना ऑनलाइन आवेदन (Online Apply)

  • उत्तर प्रदेश सहभागिता योजना में आप ऑनलाइन एवं ऑफलाइन दोनों तरह से आवेदन कर सकते हैं।
  • ऑफलाइन आवेदन करने के लिए महत्वपूर्ण दस्तावेज की फोटो कॉपी लेकर आपको अपने ग्राम पंचायत के अंतर्गत आने वाले ब्लॉक में जाना है और वहां से योजना के एप्लीकेशन फॉर्म को प्राप्त कर लेना है।
  • और ऑनलाइन आवेदन करने के लिए आप योजना की अधिकारिक वेबसाइट से आवेदन फॉर्म डाउनलोड कर सकते हैं.
  • अब आपको अपने ग्राम पंचायत के आसपास में मौजूद गौशाला में जाना है और वहां पर एप्लीकेशन फॉर्म को भरकर तथा महत्वपूर्ण दस्तावेज की फोटोकॉपी को अटैच करके साथ में जमा कर देना है।
  • अब तुरंत ही गौशाला के कर्मचारियों के द्वारा एप्लीकेशन फॉर्म और दस्तावेज की चेकिंग की जाएगी। अगर सब कुछ सही रहता है तो आपको वहां से संबंधित गाय और बैल पालने के लिए मिल जाएंगे।
  • अब गौशाला के कर्मचारियों के द्वारा आपके एप्लीकेशन फॉर्म और दस्तावेज को आगे ट्रांसफर किया जाता है, जहां पर संबंधित पोर्टल में आपकी जानकारी दर्ज होती है और जानकारी दर्ज होने की सूचना आपको अपने फोन नंबर पर प्राप्त हो जाती है।
  • इस प्रकार से सरलता से उत्तर प्रदेश सहभागिता योजना में आवेदन किया जा सकता है।

यूपी बीज अनुदान योजना

मुख्यमंत्री निराश्रित बेसहारा गोवंश सहभागिता योजना हेल्पलाइन नंबर (Helpline Number)

इस आर्टिकल के माध्यम से आपको जानकारी प्रदान करी गई है कि, उत्तर प्रदेश सहभागिता योजना क्या है और उत्तर प्रदेश सहभागिता योजना का फायदा कैसे मिलेगा। नीचे हमने योजना का हेल्पलाइन नंबर भी आपके सामने उपलब्ध करवा दिया है, ताकि आप योजना के बारे में अधिक जानकारी इकट्ठा कर सके या फिर अपनी शिकायत को दर्ज करवा सके। हेल्पलाइन नंबर निम्न अनुसार है।

0522-2740482 या 18001805999

FAQ

Q : मुख्यमंत्री निराश्रित बेसहारा गोवंश सहभागिता योजना कहां पर चल रही है?

Ans : उत्तर प्रदेश राज्य में योजना चल रही है।

Q : मुख्यमंत्री निराश्रित बेसहारा गोवंश सहभागिता योजना का हेल्पलाइन नंबर क्या है?

Ans : 0522-2740482 या 18001805999

Q : मुख्यमंत्री निराश्रित बेसहारा गोवंश सहभागिता योजना में कौन आवेदन कर सकता है?

Ans : यूपी का कोई भी व्यक्ति योजना में आवेदन कर सकता है, जोकि पशु पालना जानता है। हालांकि उसकी उम्र 20 साल से अधिक होनी चहिए।

Q : मुख्यमंत्री निराश्रित बेसहारा गोवंश सहभागिता योजना के तहत हर महीने कितना पैसा मिलेगा?

Ans : योजना के माध्यम से 1 पशु के पालने पर हर महीने अब 1500 रुपए पर 10 पशु को पालते हैं तो 15,000 रूपये महिना मिलेंगे।

अन्य पढ़ें –

Leave a Reply