AADHAAR: बच्‍चों को दिया जा रहा है ब्लू कलर का आधार कार्ड, जानिए क्या है इसकी खासियत

child_aadhaar

ाल े समय में आधार ार्ड ( Card) एक जरूरी डॉ्यूमेंट ो गया ै। ज्यादातर सरकारी योजनाओं में इसकी जरूरत पड़ती है। बच्चों के एडमिशन की बात आए तो वहां भी आधार कार्ड जरूरी हो गया है। UIDAI की ओर से 5 साल से कम उम्र के बच्चों को नीले रंग का आधार कार्ड दिया जा रहा है। बाल आधार किसी भी आधार केंद्र पर जाकर बनवाया जा सकता है। 5 साल की आयु पूरी होने के बाद बच्चे की बायोमैट्रिक डिटेल्स को अपडेट कराना होगा। 7 साल तक अपने बच्चे की बायोमैट्रिक डिटेल्स अपडेट नहीं कराने पर कार्ड सस्पेंड हो जाएगा। अपडेट का काम किसी भी नजदीकी आधार केंद्र में मुफ्त में कराया जा सकता है।

UIDAI ने इस बारे में ट्वीट कर जानकारी दी है। UIDAI ने लिखा है, 5 साल या उससे कम उम्र के बच्चों के लिए बाल आधार जरूरी है। यह 5 साल तक वैध रहेगा। 5 साल से छोटे उम्र के बच्चों का बायोमेट्रिक जानकारी नहीं ली जाती है। लेकिन, बच्चे की उम्र 5 साल से अधिक होने पर बायोमेट्रिक रिकॉर्ड अपडेट कराना होता है।
5 साल से कम उम्र के बच्चों के लिए कैसे बनेगा आधार कार्ड

बच्चे की उम्र पांच साल से कम है तो आधार () कार्ड रजिस्ट्रेशन सेंटर में जाकर उसके नाम का फॉर्म भरना होगा। इसके बाद आपके बच्चे का जन्म प्रमाण पत्र और आपके आधार की कॉपी की जरूरत होगी। हालांकि, आधार सेंटर में आपको अपना असली आधार ले जाना होगा।

पांच साल से कम उम्र के बच्चों का बायोमैट्रिक न करके बच्चे के आधार कार्ड को उनके माता-पिता के आधार कार्ड से जोड़ा जाता है। बच्चे की उम्र 5 साल हो जाने पर उसके दसों उंगलियों के फिंगरप्रिंट, रेटिना स्कैन और फोटोग्राफ आधार केंद्र में जाकर देना होगा।

Was this post helpful?

Leave a Reply